Sawan Somwar Vrat on 22 Jul 2019

Jul 22, 2019 12:00 AM-Jul 22, 2019 11:59 PM

The beautiful and auspicious month of Sawan has started. This month brings happiness and prosperity. For the Lord Shiva’s devotees, this month is quite special and auspicious. In this month, devotees take fast on every Monday of this month.

Four Special Monday On This Month –

Sawan month holds four Mondays. And each Monday of this month is important and quite significant. Monday is also regarded as the special day of Lord Shiva. There is a total number of four Mondays comes in this auspicious month. Let’s check it out these four special Mondays of Sawan which is as follows -

•        July 22 – And it will be the first Monday of this Sawan month. The first Monday of the Sawan month is regarded as Desert Panchami of Desert.

•        July 29 – The second Monday of Sawan month will fall on July 29. Apart from this, this day is also quite special and auspicious since Somprodsh and Swarth-Siddhi and Amrit Siddhi will fall on this day.

•        On August 5 – And third Monday will be on August 5  of August month. On the third Monday of Sawan, it is also regarded as Deshachari Nagpanchami and Sawan Somvaar.

•        And August 12 - And this is the last and fourth Monday of Sawan Month. On this auspicious day, SomPradosh and Sawan Somvaar will also fall on.

Auspicious Occasions of Sawan -

India is regarded as a place where a number of festivals, fasts and occasions are celebrated every year. In Sawan month, there are also other auspicious occasions celebrated. Talking about the auspicious occasions such as July 20. On this auspicious day, Sharvaani Chaturthi and RaviPushya will fall on. And the best thing is that this date is being considered quite auspicious. On July 30, it will be celebrated as Masik/ shivratri.

Mythological Significance Of The Month Of Shravan

Bholenath (Lord Shiva) is regarded, to be Shiva. Lord Shiva has always been regarded as the prominent God. He is regarded as the God of the gods. He holds respect more than other God. Moreover, Lord Shiva is also regarded as very dear to everyone. Mythology says that once Bholenath Shiva said to King Daksh that he will come down from Kailash Mountain and will live in all Shivlinga present in the world. This is why Sawan is quite special for all of us.

What To Do In Sawan

•        If a devotee offer water on Shivling in the month of Sawan, then it will be considered as climbing the Ganga water.

•        Apart from this, Belpatra is also offered to Lord Shiva on this day.

•        Moreover, worship offering Saffron sandalwood, dry fruits, figs of flowers and dhatura is considered will become successful.

•        Om Namah Shivay is the mantara to recite on this auspicious day.

And finally -

It is believed that by worshiping devotees Lord Bhole Nath this month, devotees get freedom from all kinds of divine, physical and material sufferings.

सावन का महीना ना केवल चारों ओर हरियाली और खुशहाली का होता हैं बल्कि भक्ति में लीन होने का भी होता है। सावन मास खासतौर पर शिव भक्तों के लिये काफी विशेष होता है। भक्त इस महीने पूरे दिल से भगवान शिव की उपासना करते हैं।

क्यूँ होता है सावन का हर सोमवार बेहद खास - खास बात ये है कि इस महीने के सभी सोमवार काफी विशेष होते है। सोमवार का दिन भगवान शिव जी का बहुत ही प्रिय दिन है। इस साल सावन के महीने में कुल चार सोमवार रहे है जो कि इस प्रकार है –

  • 22 जुलाई - 22 जुलाई को इस सावन महीने का पहला सोमवार होगा । इस सोमवार को मरुस्थली नाग पंचमी के नाम से भी जाना जाता है।
  • 29 जुलाई - 29 जुलाई को इस सावन महीने का दूसरा सोमवार था। इसके अलावा इस सोमवार को सोमप्रदोष और स्वार्थ सिद्धि एवं अमृत सिद्धि के योग भी बन रहे है।
  • 5 अगस्त - 5 अगस्त को इस महीने को तीसरा सोमवार पड़ेगा। सावन के तीसरे सोमवार को देशाचारी नागपंचमी और सावन सोमवार के रुप में भी माना जाता है।
  • और 12 अगस्त – और इस सावन का सबसे आखिरी और चौथा सोमवार है 12 अगस्त। 12 अगस्त को सोमप्रदोष और सावन सोमवार का भी योग बन रहा है।

सावन की अन्य महत्तवपूर्ण तारीखें - भारत को एक ऐसा देश भी माना जाता है जहां हर माह कोई ना कोई पर्व, त्यौहार और व्रत होता है। सावन के महीने और भी खास तारीखे हैं जैसे 20 जुलाई। इस विशेष तारीख को श्रावणी चतुर्थी और रविपुष्य का सिद्धिदायक योग बन रहा है जोकि काफी शुभ माना जा रहा है। इस सावन के महीने में 30 जुलाई को मासिक शिवरात्रि का पर्व का भी योग बन रहा है।

श्रावण माह का पौराणिक महत्व -पौराणिक कथाओं के अनुसार एक बार भोलेनाथ शिव ने राजा दक्ष को वरदान दिया था कि सावन महीने में वह कैलाश पर्वत से उतर कर नीचे आयेगें और दुनिया में उपस्थित सभी शिवलिंग में वास करेंगे।

 क्या करें सावन में - सावन के महीनें मे अगर कोई भी श्रद्धालु शिवलिंग पर जल को च़ढाता है तो वह गंगाजल चढाने के समान माना जाएग। और शिव जी इसे अपने भक्त की ओर से चढाये गये प्रेम के रुप में स्वीकार कर लेगें। इस पवित्र महीने में श्रद्धालु शिवलिंग पर जल चढ़ाकर आसानी से भोलेनाथ की कृपा प्राप्त कर सकते है।

जल गंगाजल बनकर स्वयं भगवान शिव जी को प्राप्त होगा और भगवान शिव को जल धारा काफी प्रिय है। इसीलिये शिवलिंग पर जल अवश्य चढायें । इसके अलावा सावन महीना में बेलपत्र चढ़ाने को भी काफी शुभ माना गया है। केसर युक्त चंदन, सूखे मेवे का भोग, आकड़े के फूल धतूरा के साथ पूजा करे। ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप अवश्य करें। नकारात्मकता से दूर रहें।

 और अंत में – ऐसा माना जाता है कि श्रद्धालुओं भगवान भोले नाथ की उपासना इस महीने मे करने से भक्तों को सभी प्रकार के दैविक, दैहिक भौतिक दुखों से मुक्ति प्राप्त होती है।

Testimonials

Manisha Koushik Writes For

Schedule An Appointment with Manisha Koushik

Click here